चिट्ठा विश्व हिन्दी चिट्ठों के संसार की अनंतर दास्तां

चिट्ठा विश्व, यानि हिन्दी चिट्ठों (ब्लॉग) के संसार में आपका स्वागत है। मूल रूप से चिट्ठा विश्व हालांकि एक ब्लॉग अन्वेशक (एग्रीगेटर) या न्यूज़ रीडर ही है पर हमारा प्रयास है कि यह निज भाषा के प्रयोग में गौरव महसूस करने वाले हिन्दी चिट्ठाकारों (ब्लॉगर्स) की समग्र छवि प्रस्तुत कर सके।


If this page is being displayed as junk characters or boxes on your computer instead of Hindi Unicode text, click here.


नए हस्ताक्षर

  हिंदिनी
लेखकः ई‍-स्वामी
हिंदिनी
  प्रतिभास
लेखकः अनुनाद सिंह
अकस्मात, स्वछन्द एवम उन्मुक्त विचारों को मूर्त रूप
  कुछ बतकही
लेखकः धनंजय शर्मा
लिनक्स में हिंदी व हिंदी में लिनक्स के प्रयोग को प्रोत्साहित करता चिट्ठा।
  ज्ञान-विज्ञान
लेखकः अनेक;
विज्ञान व तकनीक से जुड़े मुद्दों पर चर्चा
  ई-लेखा
लेखकः आशीष तिवारी
जाल मंच पर ई-लेख प्रकाशन का दूसरा प्रयास

आपकी प्रतिक्रिया एवं सुझाव


उपयोगी कड़ियाँ

चिट्ठा संसार

चिवि ब्लॉग अन्वेषक

चिट्ठा विश्व जाल पर उपलब्ध अनेक निःशुल्क साधनों पर निर्भर है जैसे कि माईजावासर्वर जो कि जावालॉबी के योगदान से पुर्नजीवन प्राप्त कर पाया और ग्रेग गर्शमैन की ब्लॉगडिग्गर ग्रुप्स सेवा। चिट्ठा विश्व का ब्लॉग अन्वेषक ब्लॉगडिग्गर ग्रुप्स स्थित हिन्दी चिट्ठों के समूह की आर.एस.एस क्षमल फीड की पार्सिंग कर ताज़ा सुर्खियाँ एक जे.एस.पी पृष्ठ द्वारा प्रस्तुत करता है।


चिट्ठा विश्व के निर्माण में योगदान दिया है देबाशीषपद्मजा ने।


चिट्ठाकार गूगल समूह के सदस्य बनें
ईमेल पता:
पुरालेख देखें at groups-beta.google.com

अन्य भारतीय भाषाओं के ब्लॉग से सुर्खियाँ

चिट्ठा विश्व पर अब आप अन्य भाषाओं के चिट्ठों से भी सुर्खियाँ देख पायेंगे। नीचे स्क्रॉल कर के देखें।

  एक मुलाकात़

जितेन्द्र चौधरीः मेरा पन्ना के लेखक
कानपुर में पले बढ़े जितेन्द्र चौधरी व्यवसायी सिन्धी परिवार से हैं। मूलतः वाणिज्य स्नातक और MCA जितेन्द्र ने शुरूवात की यूनिक्स से पर मन रमा डेटाबेस और विज़ुअल बेसिक में। जितेन्द्र का कहना है कि सिन्धी दिमाग होने के उन्हें विचार व्यापार के ही आते रहे पर वे व्यापार के लिये स्वयं को उपयुक्त नहीं मानते। कानपुर स्थित अपनी साफ्टवेयर कम्पनी के संचालन के साथ ही वे सामाजिक क्षेत्र मे भी सक्रिय रहे और फिर जल्द ही नई दिल्ली में एक नई शुरुवात की, इस बार ERP पर काम कर रही एक जर्मन कम्पनी में प्रोजेक्ट मेनेजर के रूप में। इस बीच बुलावा आया कुवैत की एक पेट्रोलियम कम्पनी से जहाँ वे संप्रति वरिष्ठ सिस्टम एक्ज़ीक्यूटिव के रूप में कार्यरत हैं। यहाँ वे महीने में २० दिन कुवैत (जहाँ कि बोरिंग जीवनशैली से वे परेशान हैं) में और शेष दिन बाहर रहते हैं।जितेन्द्र कहते हैं कि उन्होंने पहले कभी लिखने की कोशिश नही की, हाँ पढने का जरूर शौक रहा, परिवार में अगर किसी को उनकी चिट्ठाकारी का पता चले तो शायद कान खींच दे। जितेन्द्र की विचार श्रंखला के.पी.सक्सेना की शैली से प्रभावित है। भारत की राजनीति पर वे पैनी नज़र रखते हैं, राजनेताओं से उनहें बेहद चिढ़ है। उनकी लेखन शैली में उग्रता और हास्य व्यंग्य का सुखद मिश्रण है। जितेन्द्र को शौक है पर्यटन, पढने, गप्पबाजी और पार्टीयां करने का, खास पसन्द है राजनैतिक चर्चा करना। जितेन्द्र के परिवार में पत्नी और चार साल की प्यारी सी बेटी हैं। जितेन्द्र कहते हैं पत्नी जी घर सम्भालती है और मैं बाहर, पर बच्ची पर जिम्मेदारी ज्यादा है, वो हम दोनों को सम्भालती है।
[किसी अन्य चिट्ठाकार का परिचय पाने के लिए इस पृष्ठ को रिलोड करें। सारे परिचय पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें।]

  कच्चा चिट्ठा

रवि रतलामी के तीखे तंज

रवि भाई साहब के विचार पड़ कर एक पुरानी हिंदी फिल्म न्यू देहली टाईम्स का एक संवाद याद आता है "हम पत्रकार इस उम्मीद में छींकते है कि शायद सत्ता को जुकाम हो जाये|" रतलाम की मिर्च सरीखे नुक्ते सीधे व्यवस्था पर वार करते हैं। रवि साहब की चुटीली उक्तियाँ पड़ कर लगता है कि उत्तर भारत के किसी शहर की हवा मन को छूकर निकल गयी, वह हवा जिसमें गज़ल की खुशबू , जमीनी हकीकत, सामजिक पीड़ाओं के बीच भी हँस सकने की हिम्मत और नींद से झझकोर देने वाली अपील शामिल है। सामयिक मुद्दो के साथ गजलों का मिश्रण एक अनूठा प्रयोग है। गजल भी गंगा जमुनी भाषा में, यानि हिंदी भी और उर्दू भी,"बोले तो फुलटुस हिन्दुस्तानी"। वैसे गज़ल और शेर उर्दू के बंधक नही यह मशहूर कवियित्री माया गोविंद भी स्वीकार चुकी हैं। रवि साहब लगे रहिए कभी तो सवेरा होगा।

पद्य की हमारी सीमित जानकारी के आधार पर कहें तो रवि आशु कवि है, विषय देते ही पद्य की धारा बहने लगती है। रवि कहा जाए तो बिंदास लिखते हैं, खुद रवि मानते हैं

मेरी ग़ज़लों को लेकर पाठकों की यदा कदा प्रतिक्रियाएँ प्राप्त होती रहती हैं. जो विशुद्ध पाठक होते हैं, वे इन्हें पसंद करते हैं चूंकि ये क्लिष्ठ नहीं होतीं, किसी फ़ॉर्मूले से आबद्ध नहीं होतीं तथा किसी उस्ताद की उस्तादी की कैंची से कंटी छंटी नहीं होतीं। वे सीधी, सपाट पर कुछ हद तक तल्ख़ होती हैं।

हिन्दी चिटठा विश्व की बात करें तो रवि काफी और नियमित रूप से लिखते हैं। आजकल रवि के चिट्ठे चित्रमय होने लगे हैं, अक्सर ये अखबार की कतरनों पर त्वरित टिप्पणीयाँ होती हैं। इन टिप्पणियों के साथ की गज़लें कई बार झकझोर देती हैं, जैसे कि यहः

ये उम्र और तारे तोड़ लाने की ख्वाहिशें
व्यवस्था ऐसी और परिवर्तन की ख्वाहिशें।

आदिम सोच की जंजीरों में जकड़े लोग
और जमाने के साथ दौड़ने की ख्वाहिशें।

तंगहाल घरों के लिए कोई विचार है नहीं
कमाल की हैं स्वर्णिम संसार की ख्वाहिशें।

कठिन दौर है ये नून तेल और लकड़ी का
भूलना होगा अपनी मुहब्बतों की ख्वाहिशें।

जला देंगे तुझे भी दंगों में एक दिन रवि
फ़िर पालता क्यूँ है भाई-चारे की ख्वाहिशें।

यदाकदा रवि की लेखनी गूढ़ तकनीकी विषयों पर भी चलती है, कुछ दिनों पहले के चिटठे देखें तो लगता है कि रवि का चिटठा ब्लॉगज़ीन या चिट्ठा पत्रिका का रूप धरने वाली है। रवि की लेखनी की गंगा युँ ही झर झर बहती रहे यही हमारी दिली तमन्ना है।

[आलेखः अतुल अरोरा व देबाशीष चक्रवर्तीः १७ अक्तुबर, २००४]

सारे लेख पढ़ने हेतु यहाँ क्लिक करें। यदि आप किसी हिन्दी चिट्ठे की समीक्षा करना चाहते हैं तो संपर्क करें

क्या आप जानते हैं?

  • कि ब्लॉग के लिए चिट्ठा शब्द का प्रयोग सर्वप्रथम आलोक कुमार ने किया।
  • कि अक्षरग्राम हिन्दी चिट्ठाकारों का पहला समूह ब्लॉग है।
  • कि नौ दो ग्यारह हिन्दी का पहला चिट्ठा है।
  • कि लगभग सभी हिन्दी चिट्ठे युनिकोड एनकोडेड हैं।
  • कि लगभग सभी हिन्दी चिट्ठे अपने न्यूज़रीडर के माध्यम से पढ़ने के लिए आप को केवल एक आर.एस.एस फीड का पाठक बनना काफी होगा।
  • कि युनिकोड हिन्दी में टाईप करने के लिए जाल पर छाहरीयहाँ पर मुफ्त सुविधाएँ मौजूद हैं।
  • कि डीमॉज़ निर्देशिका में हिन्दी चिट्ठों की भी श्रेणी है।

मराठी ब्लॉगमंडल से ताज़ा सुर्खियाँ

गुजराती ब्लॉगमंडल से ताज़ा सुर्खियाँ

बांग्ला ब्लॉगमंडल से ताज़ा सुर्खियाँ

सिंधी ब्लॉगमंडल से ताज़ा सुर्खियाँ

कश्मीरी ब्लॉगमंडल से ताज़ा सुर्खियाँ

 

हिन्दी ब्लॉगमंडल से ताज़ा सुर्खियाँ

  मध्यमार्ग
तत्काल   [लेखक: विजय ठाकुर]
1 दिन और 16 घंटे पूर्व
मज़हबी आतंकवाद की हवा पूरी दुनिया में चल रही है, चाहे वो मुसलमानों का आतंकवाद हो, या इसाईयों और हिन्दुओं का आतंकवाद। यह शायद तबतक चलेगा जबतक.... [पूरा पढ़ें]
  कितने आशीष थे?
नौ दो ग्यारह   [लेखक: आलोक]
1 दिन और 3 घंटे पूर्व
कुछ भी उवाचने वाले इंसान नहीं है ये।
.... [पूरा पढ़ें]
  कार्यालय-प्रपंचों में विजय प्राप्ती के...
कुछ बतकही   [लेखक: Dhananjaya Sharma]
1 दिन और 5 घंटे पूर्व
"कार्यालय-प्रपंचों में विजय प्राप्ती के लिए नौ नीतियाँ" नामक इस अंग्रेजी मूल के लेख की लेखिका सुश्री केट लारेंज़ है तथा इस लेख का हिन्दी.... [पूरा पढ़ें]
  ग़ज़लों का ओवरडोज़
Raviratlami Ka Hindi Blog   [लेखक: Raviratlami]
1 दिन और 11 घंटे पूर्व
दोस्तों, एक सप्ताह के लिए बंदा ऑफलाइन होने जा रहा है. अब जबकि सुबह की कॉफ़ी को तो भले ही छोड़ा जा सकता है, इंटरनेट को नहीं,.... [पूरा पढ़ें]
  रात्रि कैमरा
ज्ञान-विज्ञान   [लेखक: आशीष गर्ग]
1 दिन और 11 घंटे पूर्व
ज़रा सोचिये कि रात्रि कैमरे से निकले दॄ‍श्य ऐसे दिखें जैसे कि इस चित्र में दिख रहे हैं। ये.... [पूरा पढ़ें]
  गूगल ने ब्लागर को निपटाया
हिंदिनी
2 दिन और 13 घंटे पूर्व
और भी कई ब्लागर्स आए मालिकों की चपेट में..... [पूरा पढ़ें]
  सनके का सहारा
हिंदिनी
2 दिन और 14 घंटे पूर्व
अपनी खुन्नस निकालने और हम खुन्नस में हैं ये घोषित करने की भी एक निराली अदा है. आप अपने मूर्ख सहकर्मी के प्र्श्नों से तंग है या उसकी साहब.... [पूरा पढ़ें]
  मैनड्रैकलिनक्स 10.2 बीटा 2
कुछ बतकही   [लेखक: Dhananjaya Sharma]
2 दिन और 22 घंटे पूर्व
मैनड्रैकलिनक्स 10.2 का द्वितीय बीटा अब उपलब्ध है । इस बीटा पृष्ट पर विवरण उपलब्ध है । इसमें शामिल कुछ मुख्य पैकेजों.... [पूरा पढ़ें]
  आ जा सांवरिया तोहें गरवां लगा लूं
अपनी बात   [लेखक: Raman]
2 दिन और 23 घंटे पूर्व
कुछ सालों पहले देसी वीडीयो के दुकान में और कोई फ़िल्म न होने की वजह से मजबूरी में गमन फ़िल्म का वीडियोकैसेट ले आया था. मुज़फ़्फ़र अली की.... [पूरा पढ़ें]
  बिल का एक और नया कारनामा - डेस्कटॉप सर्�...
ई-लेखा   [लेखक: आशीष]
2 दिन और 7 घंटे पूर्व
जी हाँ भाइयों और उनकी बहनों, गूगल और बिल के बीच जंग तेज होती जा रही है । इसी श्रंखला में बिल की कम्पनी ने डेस्कटॉप सर्च बाजार में उतारा है.... [पूरा पढ़ें]
  कैसे, किसलिए विचार?
Raviratlami Ka Hindi Blog   [लेखक: Raviratlami]
2 दिन और 9 घंटे पूर्व
सुदर्शनी विचार? *-*-* **--** सरकार द्वारा पिछली दफा जारी भारत के जनसंख्या आंकड़ों पर हर कोई.... [पूरा पढ़ें]
  बिना मताधिकार के मोहरे
इधर उधर की
3 दिन और 22 घंटे पूर्व
[१९९० के आरंभ तक उत्तर कश्मीर के कलूसा गाँव के जिस घर में मेरा परिवार दशकों से रहा, उस में तब से या तो हिज़्बुल-मुजाहिदीन के लोग रहे हैं या.... [पूरा पढ़ें]
  मेहमान का पन्ना
मेरा पन्ना
3 दिन और 2 घंटे पूर्व
मेरे एक चिट्ठाकार मित्र है SV जो अमरीका मे रहते है, अपना अंग्रेजी और गुजराती मे ब्लाग लिखते है, तकनीकी.... [पूरा पढ़ें]
  अपनी इंजीनियरी बताइए...
Raviratlami Ka Hindi Blog   [लेखक: Raviratlami]
3 दिन और 11 घंटे पूर्व
इंजीनियर्स कैसे करते हैं... हाल ही में मैंने क्लिफ़र्ड साहनी की लिखी किताब “वर्ल्ड’स बेस्ट प्रोफ़ेशनल जोक्स” पढ़ी. अमूनन चुटकुलों की.... [पूरा पढ़ें]
  भोंगा पुराण - (दो)
eSwami's Feel Good Tantrum   [लेखक: eSwami]
4 दिन और 12 घंटे पूर्व
देखें विचित्र भोंगे और जानें स्पीकर्स की पक्की परख और परीक्षण कैसे करें? (खास स्पीकर स्टेंड) भोंगा पुराण.... [पूरा पढ़ें]
  आज तो ऐश
हिंदिनी
4 दिन और 0 घंटे पूर्व
ऐशवर्या राय आज, फरवरी ८ २००५, को अमेरिकी टी वी चेनल सीबीएस के देर रात कर्यक्रम डेविड लेट्टेरमन शो मेँ मेहमान बनेंगी! गप्पें लड जयें फिर?.... [पूरा पढ़ें]
  नज़राना
Raviratlami Ka Hindi Blog   [लेखक: Raviratlami]
4 दिन और 10 घंटे पूर्व
110 अरब रुपयों की सालाना रिश्वत ***/*** *-*-* भारत में.... [पूरा पढ़ें]
  बुश की चोट्टागिरी
Bhaat baaji   [लेखक: Kalicharan]
5 दिन और 12 घंटे पूर्व
यहाँ पर देखिऍ की कैसे बुश ने बहस में चोट्टागिरी की | भईया अन्धेर नगरी चौपट राजा वाली हालत है | बहुत वयस्त हुँ पर मस्त.... [पूरा पढ़ें]
  रामराम
हिंदिनी
5 दिन और 8 घंटे पूर्व
हमारी भी रामराम स्वीकार की जाये. अभी तो यह सब टेस्टिंग और चैकिंग है..... [पूरा पढ़ें]
  उसने कहा था…
हिंदिनी
5 दिन और 9 घंटे पूर्व
एक बहुत ही लुप्तप्रायः प्रजाति के जीव के साथ महफ़िल जमी, एक बहुत धनी साधन संपन्न हिंदी प्रेमी के साथ! पुराने मित्र हैं, कभी आदर्शवादी हुआ.... [पूरा पढ़ें]
  अनुभूति
तत्काल   [लेखक: विजय ठाकुर]
5 दिन और 11 घंटे पूर्व

पूरा पढ़ें]

  पेज थ्री
इधर उधर की
6 दिन और 14 घंटे पूर्व
आज "पेज थ्री" देखी। फिल्म देखने के लिए बैठ रहा था तो ज़्यादा उम्मीदें नहीं थीं, सोचा शायद कुछ देर बाद उठ जाऊँगा और परिवार के बाकी लोग देख लेंगे,.... [पूरा पढ़ें]
  मज़ेदार गणित
ज्ञान-विज्ञान   [लेखक: मिर्ची सेठ]
6 दिन और 19 घंटे पूर्व
ब्रैड-डीलांग जो कि अर्थशास्त्र के अध्यापक हैं गणित के 100 ऐसे प्रश्न इक्कठे कर रहे हैं जो कि रोचक व मजेदार हों यदि आप इस.... [पूरा पढ़ें]
  कोई ये कैसे बताए
मेरा पन्ना
6 दिन और 22 घंटे पूर्व
Listen Audio

कोई ये कैसे बताए कि वो तन्हा क्यों है वो जो अपना था वोही और किसी का क्यों है यही दुनिया.... [पूरा पढ़ें]
  व्हेयर हिन्दी इज़ गोइंग?
Raviratlami Ka Hindi Blog   [लेखक: Raviratlami]
6 दिन और 0 घंटे पूर्व
बिकाज़ इंडिया हिन्दी इज़ गोइंग प्लेसेस... (टाइम्स इन्टरनेशनल के लिए जारी विज्ञापन की क़तरन).... [पूरा पढ़ें]
  श्रीलंका की समस्या और भारत का भविष्य
मेरा पन्ना
6 दिन और 6 घंटे पूर्व
क्या भारत और श्रीलंका की आतंकवाद की समस्या मे कुछ समानता है? लिट्टे(एलटीटीई) को किसने प्रशिक्षित किया? प्रभाकरन और ओसामा मे क्या समानता.... [पूरा पढ़ें]
  नये हिन्दी ब्लागर बन्धुओ के लिये विशे�...
मेरा पन्ना
6 दिन और 7 घंटे पूर्व
अभी अभी मेरे को पता चला है कि कुछ हिन्दी ब्लागर बन्धु हमारे चिट्ठाकार ग्रुप के सदस्य नही बने है, मुझे जानकर बड़ा आश्चर्य हुआ, क्योंकि हमारा.... [पूरा पढ़ें]
  इक बंगला बने न्यारा ...
eSwami's Feel Good Tantrum   [लेखक: eSwami]
7 दिन और 15 घंटे पूर्व
मेरी बस एक रात के रतजगे का नतीजा है हिंदिनी का श्री गणेश! आजकल आपके ब्लाग के प्रबंधन के कई साफ़्टवेयर उपलब्ध हैं. आपकी.... [पूरा पढ़ें]
  गूगल भइया का होली का मजाक
मेरा पन्ना
7 दिन और 23 घंटे पूर्व
अभी होली तो दूर है लेकिन गूगल भइया ने अभी से छेड़खानी शुरु कर दी है, जरा नजारा देखिये. इसके लिये निम्नलिखत क्रिया करे, और परिणाम खुद देखें.

.... [पूरा पढ़ें]
  यातायात संचालक
मेरा चिट्ठा   [लेखक: आशीष गर्ग]
7 दिन और 2 घंटे पूर्व
अभी हाल में ही मैंने आई आई टी कानपुर में आयोजित एक यातायात पर गोष्ठी में भाग लिया था जिसमें कि कानपुर के यातायात निरीक्षक राकेश सिंह और.... [पूरा पढ़ें]