Saving page now... https://hindi.news18.com/news/lifestyle/health-post-covid-19-care-fatigue-and-energy-management-techniques-myupchar-dlnk-3203790.html As it appears live September 22, 2020 12:03:03 PM UTC

Post COVID-19 care: थकावट और एनर्जी लॉस से बचने के तरीके

Post COVID-19 care: थकावट और एनर्जी लॉस से बचने के तरीके
कोविड-19 से उबर रहे मरीजों की दैनिक गतिविधियां भी ज्‍यादा थकाऊ हो सकती हैं.

कोरोना (Coronavirus) का असर सिर्फ हमारे श्‍वसन तंत्र, दिल और दिमाग (Brain) आदि अंगों पर तो पड़ता ही है. साथ ही इसका प्रभाव मानसिक स्थिति पर भी होता है. ब्रिटेन की नेशनल हेल्थ सर्विस (NHS) के मुताबिक कोविड-19 से उबर रहे मरीजों को इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि थकान और ऊर्जा की कमी को मैनेज करना मरीज लिए बहुत मुश्किल भरा हो सकता है.

  • Last Updated: August 14, 2020, 12:15 PM IST
  • Share this:


किसी भी बीमारी (Disease) से उबरने के बाद अपनी नॉर्मल जिंदगी (Normal Life) में वापस लौटना काफी कठिन काम होता है. खासतौर पर अगर बीमारी कोविड-19 (Covid-19) हो तो इसका मरीज के जीवन पर गहरा असर होता है और वापस नॉर्मल जिंदगी में लौटना और भी कठिन हो सकता है. जो गंभीर रूप से संक्रमण (Infection) का शिकार हुए हैं उनके लिए तो वापसी मुश्किल है ही, साथ ही जिनको हल्का संक्रमण हुआ है उनके फेफड़ों, दिल और दिमाग पर भी गंभीर असर पड़ सकता है और वापसी कठिन हो सकती है.

भले ही मरीज कोविड-19 के गंभीर संक्रमण से पीड़ित हो या हल्के संक्रमण से, दोनों ही स्थितियों में ऊर्जा में कमी महसूस हो सकती है. विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के अनुसार हर छोटी से छोटी गतिविधि के लिए भी आपको ऊर्जा की जरूरत होती है. खासतौर से जब आपको थकावट महसूस हो रही हो, सांस लेने में दिक्कत हो और बीमारी की वजह से कमजोरी महसूस हो रही हो तो कोई भी कार्य पहाड़ सा लगने लगता है. ब्रिटेन की नेशनल हेल्थ सर्विस (NHS) के अनुसार कोविड-19 से उबर रहे मरीज इस बात का ध्यान रखें कि उनकी दैनिक गतिविधियां भी उनके लिए कितनी थकाऊ हो सकती हैं. इस थकान और ऊर्जा की कमी को मैनेज करना मरीज लिए बहुत मुश्किल भरा हो सकता है.



थकावट को मैनेज करते हुए रखें इन बातों का ख्याल -
डब्ल्यूएचओ ने कोविड-19 से उबर रहे मरीजों के लिए उनके दैनिक कार्यों को मैनेज करने और घर पर ही ठीक होने के लिए निम्न बातें सुझाई हैं.

1. खुद पर अपेक्षाओं का बोझ न डालें – इस सच्चाई को स्वीकार कर लें कि इस वक्त आपका शरीर कमजोर है और इसी के अनुसार आपको अपेक्षाओं को भी कम कर लेना चाहिए. बीमारी से पहले आप जितने भी काम करते थे, आप जल्द से जल्द उन सब कार्यों को फिर से करना चाहते होंगे. यह आपकी इच्छा है, लेकिन आपका शरीर आपको इसकी इजाजत नहीं देता है. अपनी अपेक्षाओं को कम करें और शरीर की जरूरत को भी समझें. इस समय तो आपको उठकर बाथरूम तक जाने में भी थकावट महसूस हो सकती है.

2. धीरे-धीरे काम पर लौटें – अगर आप उचित देखभाल और पर्याप्त आराम लें तो आप समय के साथ बीमारी से पहले की तरह हर किस्म के कार्य करने लगेंगे, लेकिन जब तक आप पूरी तरह से उबर नहीं जाते, तब तक धीरे-धीरे अपने कार्यों को निपटाएं और अपनी पुरानी जिंदगी में लौटने की कोशिश करें. खुद को एक नियंत्रित गति देना शरीर को बीमारी से उबरने के लिए समय देना सबसे जरूरी कदम है.

3. ऊर्जा बचाएं – जब आप कोविड-19 से उबर रहे हों तो आपको यह समझना बेहद जरूरी है कि वे कौन से काम हैं, जिन्हें आप बिना किसी मेहनत के कर सकते हैं. इस दौरान ऊर्जा बचाए रखना आपके लिए बहुत जरूरी चीज है. अगर आप कुछ कामों को बैठे-बैठे कर सकते हैं तो उन्हें खड़े होकर, झुककर या चलते हुए करने से बचें.

4. मदद लें – आप कोविड-19 से उबर रहे हैं इस दौरान कोई आपकी तरफ मदद का हाथ बढ़ाता है तो उस मदद को स्वीकार करें. कोविड-19 से उबरने के लिए समय की खास जरूरत होती है. खाना बनाना, परिवार के अन्य सदस्यों की देखरेख करना, राशन खरीदना या शॉपिंग यह सभी जरूरी काम हैं, लेकिन आपके अंदर इन कार्यों के लिए ऊर्जा नहीं है तो इन कार्यों में प्रियजनों की मदद लें.

अपनी ऊर्जा को बचाने के लिए 4पी नियम अपनाएं
यह बात हम ऊपर भी बता चुके हैं कि जब आप कोविड-19 से उबर रहे हों तो आपके अंदर ऊर्जा की कमी हो सकती है. इसलिए आपको ऊर्जा बचाने पर ज्यादा ध्यान देना चाहिए. इसलिए एनएचएस इन 4पी नियम को अपनाने का सुझाव देता है.

ये भी पढ़ें - आपको रात को होती है खांसी? ये 12 टिप्स अपनाकर इससे पाएं छुटकारा

  • पी1 – प्लानिंग – दिन के समय के अनुसार अपने कार्यों की योजना बनाएं. जो भी कार्य आप करने जा रहे हैं उसमें आपकी कितनी ऊर्जा खर्च होगी और बाकी के कार्यों के लिए कितनी ऊर्जा की जरूरत होगी, इन सब बातों की योजना बनाकर काम करें.

  • पी2 – पेसिंग – अपने दैनिक कार्यों को कई छोटे-छोटे टुकड़ों में बांट लें. जल्दबाजी करने की बजाय कार्यों को धीरे-धीरे करें. इससे आपको देर तक ऊर्जा बनाए रखने में मदद मिलेगी.

  • पी3 – प्रायोराइटाजिंग – अपने व्यक्तिगत, प्रोफेशनल, पारिवारिक और सामाजिक भूमिकाओं में से प्राथमिकता के आधार पर किसी को चुनें. जो कार्य अभी बहुत जरूरी ना हों, उन्हें उस वक्त तक टाल दें, जब तक आप फिर से ऊर्जावान महसूस नहीं कर लेते.

  • पी4 – पोजिशनिंग – जहां पर आराम कर रहे हैं उसके आसपास ही अपनी जरूरत की हर चीन को रखें. इससे आपको ऊर्जा बचाने में मदद मिलेगी और आप छोटी-छोटी चीजों में व्यर्थ में ऊर्जा व्यर्थ बर्बाद नहीं करेंगे.


अधिक जानकारी के लिए हमारा आर्टिकल, कोरोना के बाद का जीवन: कोविड-19 से रिकवर होने वाले मरीज की देखभाल कैसे करें? पढ़ें।

न्यूज18 पर स्वास्थ्य संबंधी लेख myUpchar.com द्वारा लिखे जाते हैं। सत्यापित स्वास्थ्य संबंधी खबरों के लिए myUpchar देश का सबसे पहला और बड़ा स्त्रोत है। myUpchar में शोधकर्ता और पत्रकार, डॉक्टरों के साथ मिलकर आपके लिए स्वास्थ्य से जुड़ी सभी जानकारियां लेकर आते हैं।

अस्वीकरण : इस लेख में दी गयी जानकारी कुछ खास स्वास्थ्य स्थितियों और उनके संभावित उपचार के संबंध में शैक्षणिक उद्देश्यों के लिए है। यह किसी योग्य और लाइसेंस प्राप्त चिकित्सक द्वारा दी जाने वाली स्वास्थ्य सेवा, जांच, निदान और इलाज का विकल्प नहीं है। यदि आप, आपका बच्चा या कोई करीबी ऐसी किसी स्वास्थ्य समस्या का सामना कर रहा है, जिसके बारे में यहां बताया गया है तो जल्द से जल्द डॉक्टर से संपर्क करें। यहां पर दी गयी जानकारी का उपयोग किसी भी स्वास्थ्य संबंधी समस्या या बीमारी के निदान या उपचार के लिए बिना विशेषज्ञ की सलाह के ना करें। यदि आप ऐसा करते हैं तो ऐसी स्थिति में आपको होने वाले किसी भी तरह से संभावित नुकसान के लिए ना तो myUpchar और ना ही News18 जिम्मेदार होगा।

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज