Saving page now... https://hindi.news18.com/news/punjab/chandigarh-punjab-punjab-37-more-death-and-1048-new-coronavirus-positive-patients-3203899.html As it appears live September 23, 2020 11:58:48 PM UTC

पंजाब में पीक पर कोरोना वायरस रोजाना दर्ज किए गए जा रहे हैं 1 हजार से ज्यादा केस
Chandigarh-Punjab News in Hindi

पंजाब में पीक पर कोरोना वायरस रोजाना दर्ज किए गए जा रहे हैं 1 हजार से ज्यादा केस
पंजाब में पिछले 24 घंटे के दौरान कोरोना ने 37 लोगों की जान ले ली.

Coronavirus Updates of Punjab: पंजाब में कोरोना मरीजों की संख्या उन इलाकों में ज्यादा है जहां पर आबादी घनी है. स्वास्थ्य विभाग द्वारा निम्न लक्षण वाले मरीजों को घर में ही क्वारंटाइन किया जा रहा है. केवल गंभीर लक्षण वालों को ही अस्पताल में भर्ती कराया जा रहा है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 14, 2020, 1:25 PM IST
  • Share this:
चंडीगढ़. पंजाब में कोरोना वायरस (Coronavirus) अपने चरम पर है. पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस से 37 लोगों की मौत हो चुकी हैं. नए आंकड़ों के बाद राज्य में कोविड-19 (Covid-19) से मरने वालों की संख्या 712 हो गई है. स्वास्थ्य विभाग (Health Department) के आंकड़ों के मुताबिक पिछले 24 घंटे में सबसे ज्यादा 13 मौतें लुधियाना (Ludhiana) में हुई हैं. लुधियाना में अब तक हुई मौतों का यह सबसे बड़ा आंकड़ा है. लुधियाना में अब तक 209 लोग कोरोना के कारण दम तोड़ चुके हैं. इसके बाद अमृतसर और मोहली में 4-4 लोगों के दम तोड़ा है.

वहीं, बात कोरोना संक्रमित मरीजों की जाए तो पिछले 24 घंटे में राज्य में 1048 नए केस सामने आए हैं. इनमें लुधियाना में 181, पटियाला में 155 और जालंधर में 154 लोग संक्रमित पाए गए हैं. प्रशासनिक अधिकारियों के मुताबिक जो लोग ज्यादा प्रभावित हैं उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है. वहीं, जिन लोगों में सामान्य लक्षण दिखे हैं उन्हें घर में क्वारंटाइन किया गया है.

घनी आबादी वाले क्षेत्रों में ज्यादा केस
आंकड़ों के मुताबिक पंजाब में सबसे ज्यादा कोरोना केस उन इलाकों में आ रहे हैं जहां पर घनी आबादी है. लुधियाना घनी आबादी वाला शहर है. इस कारण यहां पर पॉजिटिव केस भी ज्यादा आ रहे हैं.
छुट्टी पर 30 सितंबर पर लगी रोक


राज्य में कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए राज्य के स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री बलबीर सिंह सिद्धू ने 30 सितंबर तक विभागीय तबादलों और छुट्टी पर रोक लगा दी है. बुधवार को बलबीर सिंह सिद्धू की ओर से जारी किए गए बयान में कहा गया है कि यह फैसला कोविड-19 के मौजूदा हालात को ध्यान में रखते हुए लिया गया है. आदेश के मुताबिक 30 सितंबर तक किसी अधिकारी/कर्मचारी को किसी भी तरह की छुट्टी नहीं दी जाएगी और केवल मातृत्व अवकाश और अत्याधिक जरूरी कारण के लिए चाइल्ड केयर लीव मामलों में ही छुट्टी मिल सकेगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज